कही आप भी तो नहीं इस्तेमाल कर रहे नकली Saffron, ऐसे करें असली और नकली की पहचान


आप सभी केसर का इस्तेमाल तो कई प्रकार से व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए करते ही होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं के केसर एक ऐसा मसाला है जो के दुनिया के सबसे महंगे मसलों में गिना जाता है। बता दें के केसर बहुत से गुणों से भरपूर होता है, इसकी महक इतनी अच्छी होती है के अपनी ओर आकर्षित करती है। आपकी जानकारी के लिए ता दें के केसर की खेती सबसे ज्यादा जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में की जाती हैं। इसकी खेती सबसे मुश्किल मानी जाती है जिसके चलते इसकी कीमत भी बहुत ऊंची होती हैं। परन्तु इन दिनों बाजार में मिलने वाले केसर नकली होते हैं जिससे किसी तरह का स्वाद भी नहीं आता। ऐसे में जरुरी है के आप जब भी केसर ख़रीदे तो उसकी सही पहचान करके ही खरीदें। इसी को देखते हुए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिससे असली और नकली केसर में आप अंतर् पहचान पाएंगे। 
– केसर के धागे हमेशा सूखे होते हैं। पकड़ने से टूट जाते हैं।
– असली केसर का स्वाद कड़वा होता है, केसर के धागों को मुंह मे डालने से अगर मीठा लगे तो समझ लीजिए कि ये नकली है।
– पानी में एक छोटा चमच्च बेंकिग सोडा और केसर के कुछ धागे डालिए,अगर रंग पीला हो जाए तो ये असली है और अगर ये लाल हो जाए तो नकली है।
– केसर के कुछ धागों को पानी में भिगोइए,अगर यह पूरी तरह से रंग छोड़ दे और सफेद हो जाए तो नकली है।
– गर्म जगह पर केसर रखने से यह खराब हो जाता है जबकि नकली केसर वैसा का वैसा रहता है।
– असली केसर सिर्फ सुगंध वाला होता है इसका कोई टेस्ट नहीं होता।
– भींगी उंगलियों के बीच केसर को रगड़े, अगर कलर लाल, संतरी या पीला हो जाए तो केसर असली है।
– गर्म पानी या दूध में केसर डालने पर अगर वह तुरंत रंग छोड़ दे, तो नकली है। असली केसर कम से कम 10-15 मिनट के बाद ही गहरा लाल रंग छोड़ता है।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: