काली इलायची के ये लाजवाब फायदे जान आप भी हो जायेंगे हैरान


काली इलायची का इस्तेमाल हम कई प्रकार के व्यंजनों में स्वाद बढ़ाने में करते हैं। इलाचयी बड़ी हो या छोटी यह हमारे स्वाद को दोगुना करती है। लेकिन क्या आप जानते हैं के यह सिर्फ खाने में स्वाद ही नहीं बल्कि हमारे स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। काली इलाचयी का इस्तेमाल कई खतरनाक बिमारिओं से हमे बचाये रख सकता है। इसी के साथ आज हम आपको काली इलायची से मिलने वाले फायदे के बारे में आपको बताएंगे। 
हार्ट हेल्दी: काली इलायची दिल की लय को नियंत्रित करती है, जिससे आपका  ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता  है। काली इलायची के नियमित सेवन से हार्ट हेल्दी रहता है। यह खून के थक्के की संभावनाओं को कम करता है।
कैंसर से बचाव; बड़ी इलायची में दो तरह के एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं। इनमें भी एंटी कैंसर-एंटी ऑक्सीडेंट्स सबसे खास होते हैं। यह ब्रेस्ट, कोलोन और ओवेरियन कैंसर को रोकती है।
पेट को रखे स्‍वस्‍थ: पेट के लिए काली इलायची काफी फायदेमंद साबित होती है। इसके नियमित सेवन से गैस्ट्रिक अल्सर या अन्य पाचन विकारों के विकास की संभावना काफी कम हो जाती है। काली इलायची पेट के ऐसिड की मात्रा को नियंत्रण में रखने के लिए रस स्राव की प्रक्रिया को विनियमित करने में भी मदद करती है।
पेनकिलर: बड़ी इलायची पेनकिलर की तरह काम करती है। सिर दर्द में भी फायदेमंद होती है। इससे तैयार किए जाने वाले सुगंधित तेल का इस्तेमाल भी तनाव और थकान दूर करने के लिए किया जाता है। टेंशन होने पर रात को एक बड़ी इलायची खाकर सो जाएं। सुबह आपको अच्छा फील होगा।
इंफेक्शन से बचाव: बड़ी इलायची में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो किसी भी तरह के इंफेक्शन को होने से रोकते हैं।
दूर होता है स्कैल्प का इंफेक्शन: काली इलायची का ऐंटिऑक्सिडेटिव गुण आपके स्कैल्प और बालों को पोषण प्रदान करने में सहायक होते हैं। यह प्राकृतिक रूप से ऐंटिसेप्टिक और जीवाणुरोधी होती है, इसलिए इसका सेवन स्कैल्प पर खुजली-जलन और संक्रमण को रोकने में मदद करता है।
ओरल हेल्थ: कई दंत रोगों, जैसे दांतों का संक्रमण, मसूड़ों के संक्रमण आदि का इलाज काली इलायची से किया जा सकता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एन्टी माइक्रोबियल क्वालिटी भी होती हैं।अगर आपके मुंह से दुर्गंध आती है तो बड़ी इलायची चबाना अच्छा उपाय है। 
सांस की बीमारियों में फायदेमंद: अगर आपको गंभीर सांस की तकलीफ है, तो काली इलायची आपके लिए एक बेहतरीन औषधि है। अस्थमा, काली खांसी, फेफड़े की जकड़न, ब्रॉन्काइटिस, पल्‍मोनरी ट्यूबरकुलोसिस जैसी कई सांस से संबंधित बीमारियों का इस छोटे से मसाले से सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है। 
किडनी को क्लीन करने में मददगार: काली इलायची एक प्रभावी मूत्रवर्धक होने के कारण, पेशाब की समस्‍या और गुर्दे की गंदगी को साफ करने में मदद करती है। यह आपके गुर्दे की प्रणाली को स्वस्थ रखती है।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: