मूडीज के बाद अब एसएंडपी ने भी घटाया भारत का ग्रोथ रेट, 2020 में 5.2% रहने का अनुमान


  • रेटिंग एजेंसी ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण वैश्विक स्तर पर आर्थिक मंदी का खतरा बना हुआ है

Moneybhaskar.com

Mar 18,2020 09:17:42 AM IST

नई दिल्ली। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स (एसएंडपी) ने 2020 में भारत की आर्थिक ग्रोथ रेट का अनुमान घटा दिया है। एजेंसी ने 2020 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 5.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। एजेंसी ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण वैश्विक स्तर पर आर्थिक मंदी का खतरा बना हुआ है। इस कारण इस साल आर्थिक ग्रोथ कम रहने की संभावना है। इससे पहले एजेंसी ने कैलेंडर वर्ष 2020 में भारत का ग्रोथ रेट 5.7 रहने का अनुमान जताया था।

एशिया पैसिफिक की ग्रोथ रेट 3 फीसदी से कम रहेगी

रेटिंग एजेंसी की ओर से बुधवार को जारी रिपोर्ट में वैश्विक अर्थव्यवस्था के मंदी की चपेट में आने के कारण एशिया पैसिफिक क्षेत्र में आर्थिक ग्रोथ 3 फीसदी से कम रहेगी। एजेंसी की ओर से जारी बयान में एसएंडपी एशिया-पैसिफिक के चीफ इकोनॉमिस्ट शॉन रोस ने कहा कि चालू कैलेंडर ईयर की पहली तिमाही में चीन में गहरे आर्थिक झटके, अमेरिकी और यूरोप में शटडाउन और स्थानीय स्तर पर कोरोना वायरस के फैलने के कारण पूरे एशिया पैसिफिक रीजन में आर्थिक ग्रोथ धीमी रहेगी। एसएंडपी ने कहा कि 2020 में चीन, भारत और जापान की आर्थिक ग्रोथ घटकर क्रमश: 2.9, 5.2 और -1.2 रह सकती है। इससे पहले एजेंसी ने इन तीनों देशों की आर्थिक ग्रोथ क्रमश: 4.8, 5.7 और -0.4 रहने का अनुमान जताया था।

मूडीज ने भी मंगलवार को घटाई थी भारत की आर्थिक ग्रोथ

इससे पहले मंगलवार मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान फिर से घटाया था। मूडीज ने कहा था कि कोरोना वायरस के अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर के कारण कैलेंडर वर्ष 2020 में भारत की वृद्धि दर 5.3 फीसदी रह सकती है। मूडीज ने पिछले माह फरवरी में ही 2020 में भारत की रियल जीडीपी ग्रोथ रेट 5.4 फीसदी रहने की संभावना जताई थी। यह इससे पहले के अनुमान 6.6 फीसदी से काफी कम थी।

कोरोना वायरस के कारण प्रभावित हो सकती है सप्लाई चेन: मूडीज

एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कोरोना वायरस के फैलने का अर्थव्यवस्था पर व्यापक स्तर पर असर पड़ेगा। इससे कारण घरेलू मांग और क्रॉस बॉर्डर कारोबार की सप्लाई चेन प्रभावित होगी। एजेंसी ने कहा है कि जितनी लंबी अवधि तक कोरोना वायरस का असर रहेगा, उतना ही वैश्विक मंदी की संभावना बनी रहेगी। हालांकि, एजेंसी ने 2021 में भारत का ग्रोथ रेट 5.8 फीसदी रहने की संभावना जताई है।

कोरोना से अब तक 7965 लोगों की मौत

कोरोना वायरस का असर अब तक 165 देशों तक पहुंच गया है। पूरी दुनिया में बुधवार सुबह कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 1 लाख 98 हजार 241 हो गया, जबकि मरने वालों की संख्या 7 हजार 965 पर पहुंच गई है। भारत में इस वायरस से अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 145 केस सामने आ चुके हैं।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: