शुरुआत में नाकाम रहने के बाद जीतना Difficult : राहुल


दुबई, किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने इंडियन प्रीमियर लीग में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 69 रन की हार और लगातार चौथी शिकस्त के बाद कहा कि अच्छी शुरुआत करने में नाकाम रहने के बाद जीत दर्ज करना आसान नहीं था।जॉनी बेयरस्टॉ और डेविड वार्नर के अर्धशतकों के बाद राशिद खान और खलील अहमद की धारदार गेंदबाजी से सनराइजर्स हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को 69 रन से हरा दिया। सनराइजर्स के 202 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम राशिद (12 रन पर तीन विकेट), खलील (24 रन पर दो विकेट) और टी नटराजन (24 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने निकोलस पूरन (77) की तूफानी पारी के बावजूद 16.5 ओवर में 132 रन पर सिमट गई। इससे पहले बेयरस्टॉ ने 55 गेंद में छह छक्कों और सात चौकों की मदद से 97 रन की पारी खेलने के अलावा वार्नर (52) के साथ पहले विकेट के लिए 160 रन की साझेदारी भी की जिससे सनराइजर्स की टीम छह विकेट पर 201 रन बनाने में सफल रही।

लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम ने 58 रन तक ही कप्तान सहित तीन विकेट गंवा दिए थे। राहुल ने मैच के बाद कहा, ‘‘जब आप पावर प्ले में इतने अधिक विकेट गंवाते हो तो मुश्किल होती है, विशेषकर तब जब आप छह बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हो। मयंक (अग्रवाल) का रन आउट होना आदर्श शुरुआत नहीं थी, यह त्रासदी थी। इसके अलावा हमने जो भी शॉट खेले वो क्षेत्ररक्षकों के हाथों में गए।’’ राहुल ने हालांकि डेथ ओवरों में बेहतर गेंदबाजी के लिए गेंदबाजों की सराहना करते हुए कहा कि यह सकारात्मक पक्ष रहा।

पंजाब की टीम को लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (29 रन पर तीन विकेट) और अर्शदीप सिंह (33 रन पर दो विकेट) ने अंतिम पांच ओवर में वापसी दिलाई जिसमें सनराइजर्स की टीम 41 रन ही जोड़ सकी। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच मैचों में हम अपनी डेथ ओवर की गेंदबाजी को लेकर जूझ रहे थे लेकिन आज यह सकारात्मक पक्ष रहा। गेंदबाजों ने साहस दिखाया और वापसी दिलाई, इस तरह की शुरुआत के बाद आप उनके 230 से अधिक रन बनाने की उम्मीद कर सकते हैं।’’ राहुल ने अर्धशतक जड़ने वाले निकोलस पूरन की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘पूरन को बल्लेबाजी करते हुए देखकर बहुत अच्छा लगा और वह शानदार बल्लेबाजी कर रहा है। पिछले साल भी उसे जब भी मौका मिला तो उसने ऐसा किया।’’ सनराइजर्स के कप्तान वार्नर ने स्वीकार किया कि जब पूरन बल्लेबाजी कर रहे थे तो वह थोड़े नर्वस थे।

उन्होंने कहा, ‘‘इसका लुत्फ उठाया लेकिन जब निकोलस बल्लेबाजी कर रहा था और चार ओवर बचे थे तो थोड़ा नर्वस था। मैं बांग्लादेश में उसके साथ खेला हूं और जब वह बड़े शॉट खेलता है तो विरोधी टीम के लिए मुश्किलें पैदा करता है।’’ राशिद के प्रति सम्मान जताते हुए वार्नर ने कहा, ‘‘राशिद को काफी सम्मान दिया जाना चाहिए, वह विश्व स्तरीय गेंदबाज है और टीम में उसका होना अच्छा है। बेशक भुवी (भुवनेश्वर कुमार) का बाहर होना निराशाजनक है लेकिन उसके बाहर होने से अन्य खिलाड़ियों को मौका मिलेगा।’’ इंग्लैंड के बेयरस्टॉ के साथ शानदार जोड़ी बनाने के संदर्भ में आस्ट्रेलिया के वार्नर ने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि लोग क्यों सोचते हैं कि दोनों देशों के बीच इतनी अधिक नफरत है। यह अच्छा चल रहा है और मैं फिलहाल मैं उसे स्ट्राइक देने का प्रयास कर रहा हूं। हमें एक साथ बल्लेबाजी करना पसंद है।’’ मैन आफ द मैच बेयरस्टॉ अपने प्रदर्शन से संतुष्ट दिखे और उन्होंने भी वार्नर की तारीफ की।

बेयरस्टॉ ने कहा, ‘‘मैं संतुष्ट था, बेशक मेरा तीसरा अर्धशतक था लेकिन लगातार दो अर्धशतक के साथ निरंतरता हासिल करना महत्वपूर्ण है। वार्नर के साथ बल्लेबाजी करना मजेदार है, हमें पता है कि वह कितना स्तरीय खिलाड़ी है। मुझे लगता है कि यह उसका 50वां अर्धशतक था जो सारी कहानी बयां करता है।’’



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: