काली मिर�च से ज�ड़े या फायदे जान आप भी हो जायेंगे हैरान


हर घर में काली मिरà¥�च तो कई तरह के वà¥�यंजनों में उनका सà¥�वाद बà¥�ाने में किया जाता है। लेकिन कà¥�या आप जानते हैं के काली मिरà¥�च सिरà¥�फ सà¥�वाद बà¥�ाने के लिà¤� ही नहीं बलà¥�कि सेहत के लिà¤� भी बहà¥�त फायदेमंद होती है। काली मिरà¥�च औषधि गà¥�णों से भरपूर होती है। काली मिरà¥�च कई तरह की बीमारियों से बचाये रखने का काम करती है। यही नहीं बलà¥�कि इसके और बहà¥�त से फायदे हैं जिनके बारे में शयद ही आप जानते होंगे। 
डायबिटीज के लि�: काली मिर�च का सेवन करने से मध�मेह और ब�लड श�गर को की समस�या भी कंट�रोल में रहती है। शोध के म�ताबिक, काली मिर�च में �से �जेंट पा� जाते हैं, जो डायबिटीज के इलाज में मदद मिल सकती है।
कब�ज की समस�या से मिलेगा छ�टकारा; काली मिर�च हमारी पाचन शक�ति के लि� बह�त लाभकारी होती है। इससे कब�ज की समस�या भी दूर होती है। इसके लि� आप को करना बस इतना है कि आप को भोजन में काली मिर�च डालकर खानी है और फिर देखि� आपको इससे कितने बेमिसाल फायदे मिलेंगे।
याददाश�त को बढ़ा�: काली मिर�च हमारे दिमाग के लि� भी बह�त ग�णकारी होती है। इससे याददाश�त को बढ़ाया जा सकता है।
पतला होने में करेगी मदद: आप काली मिर�च का सेवन ग�रीन टी के साथ भी कर सकते हैं। अगर आप पतले होने के लि� ग�रीन टी पी रहे हैं तो काली मिर�च उसमें सोने पर स�हागा का काम करेगी। ग�रीन टी को काली मिर�च के साथ खाने से शरीर का मेटाबॉलिज�म स�धरता है। च�टकी भर काली मिर�च लें। इसे ग�रीन टी में मिला�ं। दिन में दो से तीन बार पि�ं।
कैंसर से करे बचाव: इस पर लेकर बह�त से शोध भी ह�� हैं जिसमें यह बात सामने आई है कि काली मिर�च में �ंटी-कैंसर गतिविधि पाई जाती है जो कि शरीर में कैंसर को पनपने से रोक सकती है। इतना ही नहीं काली मिर�च में मौजूद पाइपरिन की वजह से इसे कीमो थेरेपी के लि� भी इस�तेमाल किया जा सकते हैं।
गठिया के लि�: सर�दी खासी दूर करने वाली काली मिर�च गठि� और जोड़ों के दर�द से भी राहत दिलाने का काम करते हैं। 40 प�लस महिलाओं को अक�सर जोड़ों में दर�द की समस�या होने लगती हैं। �से में सिर�फ �क काम करना है और वह है काली मिर�च का सेवन। इससे आपका जोड़ों का दर�द तो दूर होगा ही साथ ही में गठि� के दर�द से भी राहत मिलेगी।
पाचन तंत�र होता है बेहतर: काली मिर�च आपके पेट को �क दम साफ कर देती है। इसके सेवन से पाचन तंत�र भी बेहतर रहता है। वैसे तो आप काली मिर�च के पाउडर का सेवन भी आप कर सकते हैं लेकिन अगर आप काली मिर�च चबा कर खा�ंगे तो आपको और भी फायदे होगें।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: