World Cup qualifier खेलने से ज्यादा खुशी वतन लौटने और March में जन्मी बेटी को देखने की थी


काराकास, वेनेजुएला का डिफेंडर विल्कर एंजेल सात महीने से वह अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल की बहाली का इंतजार कर रहा था ताकि अपनी बच्ची को पहली बार देख सके चूंकि कोरोना वायरस महामारी के कारण इतने समय वह रूस में फंसा रह गया था। आखिरकार विश्व कप क्वालीफाइंग में पहले दो दौर के मुकाबले के लिये उसे टीम में चुना गया। विश्व कप क्वालीफायर खेलने से ज्यादा खुशी अपने वतन लौटने और मार्च में जन्मी दूसरी बेटी मिया को देखने की थी। रूसी लीग में अखमत ग्रोंजी क्लब के लिये खेलने वाले एंजेल ने अपनी दोनों बेटियों और पत्नी से कुछ पलों के लिये ही मुलाकात की क्योंकि टीम को मैच के लिये कोलंबिया रवाना होना था। 

उन्होंने इंस्टाग्राम पर लिखा ,‘‘ भगवान ही जानते हैं कि यह कितना कठिन था। मैं उन्हें कुछ मिनट के लिये ही देख सका लेकिन मेरी आत्मा तृप्त हो गई।’’ उनकी पत्नी वेनेजुएला में ही थी ताकि बच्चे के जन्म के समय परिवार के पास रहे । विल्कर को भी जन्म के समय लौटना था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण सारी उड़ानें रद्द हो गई थी।  सितंबर में फीफा ने विश्व कप क्वालीफायर के पहले दौर के मुकाबले कराने की अनुमति दी जो इस सप्ताह शुरू हुए हैं। इसके साथ ही एंजेल अपने देश लौट सकावेनेजुएला में 80000 से ज्यादा पॉजिटिव मामले आये हैं और करीब 680 लोग कोरोना वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं। 



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: